इलाहाबाद हाईकोर्ट से मायावती, उनके भाई और भतीजे को नोटिस

29
SHARE

मायावती के साथ उनके भाई के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट ने नोटिस जारी की है। मायावती के भतीजे के खिलाफ भी नोटिस जारी की गई है। इनके खिलाफ कृषि भूमि को आबादी की घोषित कराने का आरोप है|

संदीप भाटी की याचिका पर इलाहाबाद हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीबी भोसले व न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने यह नोटिस जारी की है|

हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती इनके भाई प्रभु दयाल व भतीजे आनन्दकुमार को नोटिस जारी की है। इन पर आबादी की 47433 वर्गमीटर खेती की जमीन को आबादी घोषित कराकर करोड़ों के मुआवजे के घोटाले का आरोप है। इनके खिलाफ सीबीआइ जांच की मांग की गई है। यह जमीन गौतमबुद्धनगर के बादलपुर गांव की है|

बसपा सुप्रीमो मायावती और उनके परिजन आनंद और प्रभुदयाल सहित एसडीएम को इलाहबाद हाईकोर्ट से नोटिस जारी , सन 2006 में मायावती के गाँव बादलपुर की 7435 वर्गमीटर कृषित जमीन को आबादी की जमीन बनाकर उनके भाई आनंद को आबंटित करने का मामला, याचिका कर्ता संदीप भाटी की मामले में सीबीआई जांच के मामले में जारी हुआ नोटिस|

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इलाहाबाद के नैनी के शियाट्स मामले की जांच एसपी क्राइम इलाहाबाद को सौंप दी है। साथ ही पूर्व सांसद माफिया अतीक अहमद के खिलाफ दर्ज 45 गम्भीर अपराधों में जमानत निरस्त करने की अर्जी दाखिल करने का निर्देश दिया है। अतीक के खिलाफ 83 आपराधिक मामले चल रहे हैं, कोर्ट ने शियाट्स मामले में पेश जमानत अर्जी पर होने वाले आदेश की जानकारी मांगी है। मुख्य न्यायाधीश डीबी भोसले तथा न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा ने दिया है|