बुलंदशहर में बसपा प्रत्याशी की जीत के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे

128
SHARE

बुलंदशहर में प्रदेश निकाय चुनाव के परिणाम आने पर बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी की जीत पर ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे भी लगने की बात सामने आ रही है। इसका वीडियो भी वायरल हो गया। इसके बाद सक्रिय हुई पुलिस ने 150 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करने के साथ दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

प्रदेश के बुलंदशहर के सिकंदराबाद में निकाय चुनाव में प्रशासन के सुरक्षा व्यवस्था के सख्त होने के दावे ध्वस्त हो गए। अपने-अपने प्रत्याशियों की जीत पर खुशियां मनाते हुए समर्थकों ने न सिर्फ आचार संहिता का उल्लंघन किया बल्कि ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे भी लगाए।

मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने सिकंदराबाद की नवनिर्वाचित बसपा प्रत्याशी बब्बो परवीन और 150 समर्थकों के खिलाफ 188/153बी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। निर्वाचित चेयरमैन समेत 150 पर रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही कल दो लोगों को गिरफ्तार किया गया।

आरोप है कि परिणाम आने के बाद बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के प्रत्याशी बब्बो परवीन के समर्थकों ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए। जीत के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए समर्थकों का वीडियो वायरल हो गया। करीब 48 सेकेंड़ के इस वीडियो में प्रत्याशी के समर्थक सड़क पर हाय-हुल्लड़ के साथ नाच रहे है और साथ ही खुशी का इजहार कर रहे हैं। इस प्रत्याशी के समर्थक खुशी का इजहार करते हुए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे भी लगा रहे हैं।

वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सिकंदराबाद में तनाव का माहौल है। भाजपा के जिला अध्यक्ष ने कहा कि हमने इस मामले का संज्ञान लिया है, साथ ही मामले की जानकारी ऊपर भेजी गई है।

कोतवाली में उपनिरीक्षक अशोक कुमार की तरफ से दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा गया कि एक की शाम को थाने पर मिली सूचना पर वे दनकौर तिराहे पर पहुंचे तो वहां देखा कि बीच मार्ग में कुछ लोग इकट्ठा थे। यह सभी लोग बसपा समर्थित प्रत्याशी बब्बो परवीन के विजेता होने पर उसके समर्थन में विजयी जुलूस निकालने की तैयारी कर रहे थे। बब्बो परवीन अपने करीब 100-150 समर्थकों को उकसा रही थीं, जिससे मार्ग यातायात बाधित हो गया। पुलिस के मना करने के बावजूद उन्होंने जुलूस निकालना शुरू कर दिया। इनकी वीडियो बनवाई गई। अतिरिक्त फोर्स के आने पर ये लोग सड़क किनारे की गलियों में हुड़दंग मचाते हुए भाग निकले। इस मामले में पहले 100-150 अज्ञात समर्थकों के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन की रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

इसमें पुलिस ने राष्ट्रीय अखंडता को प्रभावित करने वाले शब्दों का इस्तेमाल करने की धारा 153बी बढ़ा दी। दो आरोपी सोनी और मोनी निवासी मोहल्ला छासियावाड़ा को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस का कहना है कि अन्य आरोपियों की पहचान की जा रही है।।

चुनाव आयोग ने प्रत्याशियों के विजयी जुलूस निकालने पर पाबंदी लगाने के निर्देश दिए थे। बावजूद इसके विजयी प्रत्याशी के समर्थकों ने जुलूस निकाला। पुलिस का दावा है कि जुलूस नहीं निकलने दिया। जैसे ही उन्हें जुलूस निकालने की भनक लगी उन्होंने मौके पर जाकर उसे रुकवाया। परसों मतदान केंद्र के बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। इसके बाद भी कुछ खुरापातियों ने जुलूस में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे तक लगा दिए, लेकिन पुलिस प्रशासन को या तो इसकी भनक तक नहीं लगी या फिर वह जान बूझकर अनजान बनी रही। मतगणना के अगले दिन शनिवार को इस मामले की वीडियो वायरल हुई तो पुलिस-प्रशासन हरकत में आया।

विवादित वीडियो वायरल होने के मामले को लेकर खुफिया विभाग भी अलर्ट हो गया है। खुफिया टीमें भी वीडियो की असलियत जानने के प्रयास में जुटी रही। साथ ही वीडियो को लेकर शहर में हो रही प्रतिक्रिया पर भी निगाह रखी जा रही है।

बसपा के जिलाध्यक्ष कमल राजन ने सफाई दी कि दूसरी पार्टी के लोगों ने वीडियो डबिंग कराई है। विपक्षी लोग मामले को तूल रहे हैं। जैसे वीडियो में दिखाया गया है, वैसा कुछ हुआ ही नहीं है।

जांच के बाद सब साफ हो जाएगा। मतगणना के दिन वे शाम सात बजे तक मतदान केंद्र के अंदर रही। विजेता घोषित होने के बाद पुलिस ने ही उन्हें घर तक छोड़ा है

उन्होंने कोई जुलूस नहीं निकाला। न ही कोई आपत्तिजनक बात कही है। उन पर व उनके समर्थकों पर लगाए आरोप निराधार हैं। वे अपने मुल्क भारत से बेपनाह मोहब्बत करती हैं।

कोतवाली प्रभारी सिकंदराबादशहर सुधीर कुमार ने बताया कि जो वीडियो वायरल हुई है, इसकी जांच में कुछ लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का मामला सामने आया है। आचार संहिता के उल्लंघन व धारा 153बी के तहत कार्रवाई कर दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। शहर का माहौल बिगाडऩे का प्रयास करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।