गठबंधन के बाद प्रियंका के साथ डिंपल यादव और राहुल गांधी के साथ अखिलेश यादव कैम्पेन करेंगे

25
SHARE

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन हुआ है। इस गठबंधन के बाद प्रियंका के साथ डिंपल यादव और राहुल गांधी के साथ अखिलेश यादव कैम्पेन करेंगे। ऐसा पहली बार हुआ है जब प्रियंका गांधी कांग्रेस से किसी पार्टी का गठबंधन कराने में इतनी एक्टिव दिखी हैं। इससे पहले वे सिर्फ इलेक्शन में कैम्पेनिंग करती रहीं हैं। वे खासतौर पर यूपी इलेक्शन में काफी इंटरेस्ट दिखा रही हैं।

प्रियंका यूपी के मामलों में काफी इंटरेस्ट दिखा रही हैं। वे अक्सर पार्टी के डिस्कशन में शामिल हो रही हैं और अपने घर पर भी नेताओं से चर्चा कर रही हैं। मोदी सरकार की ओर से मिल रहे चैलेंज और 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से कांग्रेस की परफॉर्मेंस में गिरावट आ रही है। इसे देखते हुए भी पार्टी में माना जा रहा था कि प्रियंका को और एक्टिव होने की जरूरत है। कई लोगों का मानना हे कि यह गांधी परिवार की ओर से प्रियंका की राजनीति में लॉन्चिंग का सिग्नल है|
बताया जा रहा है कि राहुल गांधी की तरफ से यूपी में पार्टी के इलेक्शन कैम्पेनर प्रशांत किशोर और IAS ऑफिसर रहे धीरज श्रीवास्तव को अखिलेश के पास भेजा गया था।
हालांकि, अहमद पटेल ने इस बात से इनकार किया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि यह कहना गलत है कि कांग्रेस की ओर से बातचीत के लिए किसी दिग्गज को नहीं भेजा गया।उन्होंने कहा कि इसके लिए कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी (गुलाम नबी आजाद) और प्रियंका गांधी की सीएम अखिलेश से हाईएस्ट लेवल पर बातचीत हो रही थी|
सूत्रों के मुताबिक, अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के पास शुक्रवार या शनिवार की रात को एक बजे के करीब प्रियंका गांधी का फोन आया। उन्होंने कहा कि अखिलेश ने फोन बंद किया हुआ है, लेकिन अखिलेश ने पहले ही कांग्रेस से कह रखा था कि गठबंधन की बात वे लोग डिंपल से कर सकते हैं।बताया जा रहा है कि प्रियंका और डिंपल के नजदीकियां बढ़ी हैं, जिसकी वजह से यह डील मुमकिन हो पाई है|
इस गठबंधन के बाद यह भी तय हो गया है कि प्रियंका और डिंपल कई रैलियां एकसाथ करेंगी।राहुल और अखिलेश भी 14 रैलियां एकसाथ करेंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस ज्वॉइन कराने में भी प्रियंका का रोल रहा है।
बताया जाता है कि पिछले साल सितंबर में सिद्धू प्रियंका गांधी से पहली बार मिले थे।
सिद्धू ने तब प्रियंका की तारीफ करते हुए कहा था कि वे इंदिरा गांधी जैसी लगती हैं।
जवाब में प्रियंका ने सिद्धू से कहा था कि वे बचपन से ही उनके पसंदीदा खिलाड़ी रहे हैं।
बताया जाता है कि बाद में प्रियंका ने पंजाब कांग्रेस चीफ अमरिंदर सिंह और स्टेट कांग्रेस इन्चार्ज आशा कुमारी को सिद्धू से मिलने के लिए कहा था|