फावड़ा मारकर की पिता की हत्या, शराब पीने से मना किया था माना

26
SHARE

शराब पीने से मना करने और जमीन के बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद में इकलौते पुत्र ने पिता के सिर में फावड़ा मारकर मौत के घाट उतार दिया। बिनौली के मुलसम गांव निवासी 75 वर्षीय महीपाल खेतीबाड़ी कर परिवार पाल रहे थे। पुलिस के मुताबिक, उनका इकलौता पुत्र अनिल शराब पीने का आदी था। इस बात को लेकर अक्सर महीपाल उसे फटकार लगा देता था।

बेटे की बदतमीजी से परेशान महीपाल ने अपनी 30 बीघा जमीन में से 12 बीघा अनिल को दे दी, लेकिन वह उसमें भी खेतीबाड़ी नहीं कर पा रहा था। वह अपने हिस्से की पूरी संपत्ति मांगता था, जिसका महीपाल विरोध करता था। बुधवार सुबह महीपाल को खबर मिली कि अनिल चंदायन के जंगल में स्थित अपने खेत में शराब पी रहा है।

परिवार की इज्जत खराब होती देखकर महिपाल वहां पहुंचा तो उसे डांट लगा दी। आरोप है कि इसके बाद अनिल ने पास रखा फावड़ा अपने पिता के सिर में मार दिया, जिससे वह मूर्छित होकर गिर गए और कुछ देर बाद घटनास्थल पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

खबर पाकर दोघट व बिनौली थाना पुलिस मौके पर पहुंची, परंतु दोनों एक-दूसरे का क्षेत्र बताकर आपस में ही उलझ गई। इसका फायदा उठाकर आरोपी भाग निकला। सीओ श्वेताभ पांडेय वहां पहुंचे तो मामला बिनौली थाने का निकला, जिसके बाद बिनौली पुलिस ने शव पीएम के लिए भेजा और आरोपी की तलाश की।

मृतक के भतीजे श्रीनिवास ने अनिल के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। उधर, मृतक किसान की बेटी सरलेश व बहन शांति के अलावा अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। ग्रामीण व रिश्तेदार उन्हें ढाढस बंधाने पहुंच रहे हैं।

हत्या के बाद कुछ लोगों ने मामला दबाने का भी प्रयास किया। कुछ ग्रामीणों ने कहा कि पिता तो चल बसा है, अब बेटे को सलाखों के पीछे न भिजवाया जाए। परिवार बर्बादी की कगार पर पहुंच जाएगा, परंतु पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध कार्रवाई की बात कही तो श्रीनिवास को मुकदमा दर्ज कराना पड़ा।

source-DJ