इलाहाबाद हाईकोर्ट को उड़ाने की धमकी देने वाला रिटायर्ड रीडर का बेटा था

125
SHARE

हाईकोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला जिला जज के रिटायर्ड रीडर वाहिद अली का बेटा आबिद अली सिद्दीकी निकला। शुक्रवार को पुलिस ने उसे ट्रेस कर लिया, लेकिन वह पकड़ में नहीं आया। धमकी भरा खत लिखने का आरोपी आबिद मानसिक रूप से कमजोर बताया जा रहा है।

आबिद कर्नलगंज थाना क्षेत्र के सादियाबाद का निवासी है। करेली निवासी उसके भाई शाहिद हाईकोर्ट में वकालत करते हैं। आबिद पहले अपने भाई का मुंशी था। कुछ साल पहले उसकी मानसिक स्थिति खराब हुई तो काम छोड़ दिया था। गुरुवार सुबह करीब 10 बजे वह पास लेकर हाईकोर्ट में गया था। शाम को धमकी भरा खत मिलने के बाद रात भर सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए।

शुक्रवार दोपहर धमकी भरे पत्र के बारे में कुछ कर्मचारियों ने पुलिस को आबिद के बारे में जानकारी दी। उसके अधिवक्ता भाई को बुलाया गया, जिन्होंने हैंड राइटिंग की पहचान की। यह भी बताया कि गुरुवार रात करीब डेढ़ बजे आबिद घर में झगड़ा करने के बाद आग लगाई और भाग निकला। पुलिस को घर से उसकी दवाई और डॉक्टर के पर्चे भी मिले हैं। पांच भाइयों में चौथे नंबर के आबिद का पत्नी से तलाक हो चुका है। ससुराल वालों ने उसके खिलाफ दहेज उत्पीडऩ का मुकदमा भी दर्ज कराया था।

कहा जा रहा है कि तलाक के बाद ही वह घरवालों से मारपीट करने लगा। वह 2009 में नशीली गोली रखने के आरोप में पकड़ा गया था। आबिद के पिता ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह घरवालों को भी चिट्ठी लिखकर परेशान करता है और प्रदेश के कई नेताओं से मिलने की बात कहता है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी का कहना है कि धमकी भरा पत्र लिखने वाला शख्स आबिद अली सिद्दीकी है। वह मानसिक रूप से काफी कमजोर है। पकड़ में आने पर पूछताछ की जाएगी।