बरेली में हींग व्यापारी के बेटे का अपहरण, दो करोड़ की मांग

41
SHARE

बरेली के कोहड़ापीर में हींग व्यापारी का 18 वर्षीय बेटा मंगलवार शाम सात बजे प्रेम नगर थाने के पास स्थित एक घर से ट्यूशन पढ़ाकर निकला था। इसके बाद से उसका पता नहीं चला। रात सवा नौ बजे उसी के फोन से पिता, भाई सहित एक दर्जन से ज्यादा परिजन के पास दो करोड़ रुपये की फिरौती देने का धमकी भरा वाट्सएप मैसेज आया तब परिजन ने पुलिस को सूचना दी।

अचानक अपहरण की सूचना से पुलिस सक्रिय हो गई। गुमशुदगी दर्ज कर पूरे मामले की जांच में टीमें जुट गई हैं। कोहाड़ापीर निवासी उमेश कुमार सूरी का हींग सप्लाई का कारोबार है। अपहृत हुआ हार्दिक सूरी उनका छोटा बेटा है। उमेश सूरी ने बताया कि बेटे ने इसी साल गुलाब राय इंटर कॉलेज से 12वीं पास की।

आगे कंपटीशन की तैयारी कर रहा है। प्रेम नगर थाने के मित्तल परिवार में बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने जाता है। रोजाना की तरह वह शाम पांच बजे छोड़ने गए और शाम सात बजे पढ़ाकर निकला था। उसने भाई को कॉल कर अपना कुछ काम होने और आधे घंटे में घर पहुंचने की बात कही लेकिन, रात आठ बजे तक घर नहीं पहुंचा तो परिजन ने कॉल की। इसके बाद से लगातार घंटी जाती रही, लेकिन फोन नहीं उठा।

परिजन ढूंढ ही रहे थे कि इसी दौरान रात सवा नौ बजे उमेश सूरी, उनके बड़े बेटे कुनाल सहित अन्य परिजन के पास अचानक हार्दिक के फोन से एक वाट्सएप मैसेज आया। मैसेज में लिखा कि ‘तुम्हारा बेटा मेरे पास है। लड़का सही सलामत चाहते हो तो दो करोड़ का इंतजाम कर लो। हम रामपुर पहुंच चुके हैं।’