अब तक 147 मौतें, अभी भी फंसी हैं कई लाशें

10
SHARE

ताजा जानकारी के मुताबिक अभी तक कुल 147 शवाें की एंट्री अकबरपुर के पाेस्टमार्टम हाउस में हाे चुकी है,कानपुर के पास पुखरायां में हुए इंदाैर-पटना एक्सप्रेस रेल हादसे के करीब 40 घंटे के बाद भी हालात सामान्य नहीं हो पाये हैं। लगातार एनडीआरएफ की टीमें घटनास्थल से क्षत-विक्षत लाशें निकाल रही हैं।जबकि बड़ी संख्या में शव अाइस फैक्ट्री में भी रखी गई हैं। एनडीअारएफ अफसराें के अनुसार साेमवार देर रात तक रेस्क्यू अाॅपरेशन चल सकता है।रविवार तड़के 3.10  बजे पटना जा रही 19321 इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस के 14 डिब्बों के पटरी से उतरने से ये हादसा हुआ। इसे हाल के वर्षों की सबसे भीषण रेल दुर्घटना बताया जा रहा है|

हादसे की वजह से ट्रेन के एस-1 और एस-2 डिब्बे एक-दूसरे में घुस गए जिस कारण इन्हीं डिब्बों के सबसे ज्यादा मुसाफिरों की मौत हुई। इसके अलावा बी 3 और एस-4 डिब्बों को भी गंभीर नुकसान पहुंचा। एस-2 में फंसे कई यात्रियाें काे जिंदा निकाला गया, लेकिन एसी के बी-3 बाेगी में यात्रा कर रहे सीट नंबर-27 से 62 तक अभी तक केवल एक युवक काे ही बचाया जा सका है, जबकि उसकी हालत भी गंभीर बनी हुई है।हादसा इतना जबर्दस्त था कि गहरी नींद में सो रहे ज्यादातर मुसाफिरों ने भी डिब्बों को पटरी से उछलता हुआ महसूस किया। डिब्बों के बीच फंसे यात्रियों को निकालने के लिए गैस कटर का इस्तेमाल किया गया।

सेना, एनडीआरएफ और राज्य पुलिस की मदद से बचाव एवं राहत कार्य में लगे रेलवे कर्मचारियों ने बताया कि मरने वालों की तादाद हर घंटे बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद के मुताबिक, अब तक 147 लोगों के शवों का पता चल पाया है|