सनसनीखेज हत्याकांड में नया मोड़, जिंदा है भंवरी देवी

257
SHARE

राजस्थान के बहुचर्चित भंवरी देवी हत्याकांड में आज एक नया मोड़ आ गया. आरोपी इंदिरा बिश्नोई ने कहा कि भंवरी देवी जिंदा है और बेंगलुरु में रह रही है. इंदिरा बिश्नोई को तीन जून को मध्य प्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया गया था. उनके वकील ने इंदिरा के दावे का समर्थन किया और कहा कि सीबीआई ने नहर से जो हड्डियां बरामद की थी वह भंवरी की नहीं थी और फॉरेंसिक रिपोर्ट में भी कोई निष्कर्ष सामने नहीं आया था.

बचाव पक्ष के वकील ने कहा, यह कथ्य सीबीआई का है कि भंवरी देवी मर चुकी है और इसका आधार गवाहों के बयान हैं. उन्होंने कहा कि सीबीआई ने दावा किया था कि नहर में कुछ हड्डियां मिली हैं और वह भी भंवरी के गायब होने के चार महीने बाद मिली, उन्होंने कहा, हड्डियों की जांच रिपोर्ट में कुछ स्पष्ट नहीं हुआ था जिसका मतलब है कि भंवरी जीवित भी हो सकती है.

इंदिरा विश्नोई को राजस्थान पुलिस की एटीएस ने हाल ही में नेमावर क्षेत्र में गिरफ्तार किया. वह बीते छह साल से फरार थी. इंदिरा को भगोड़ा घोषित कर उस पर 5 लाख रुपए का ईनाम रखा गया था. इंदिरा मध्यप्रदेश के देवास जिला मुख्यालय से लगभग 150 किमी दूर नर्मदा नदी के किनारे नेमावर में ठिकाना बना कर रह रही थी. उसके एक समर्थक ने उसे अपने यहां पनाह दे रखी थी. जानकारी के अनुसार, इंदिरा मोबाइल फोन और एटीएम का उपयोग भी नहीं कर रही थी ताकि पुलिस को उसका सुराग न मिल सके.