आगरा में पेट्रोल टैंकर और ट्रैक्टर में टक्कर, दो जिंदा जले, तीन की अस्पताल में मौत, पुलिस ने नहीं की मदद

33
SHARE

गुरुवार रात हाईवे पर पेट्रोल टैंकर-ट्रैक्टर ट्रॉली हादसे में दो लोग जिंदा जले जबकि तीन लोगों अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो जरूर लेकिन आग में ​घिरे लोगों को बचाया नहीं।

पुलिस जब इन लपटों से डरकर दूर खड़े होकर तमाशबीन बनी थी, तब ढाबा कर्मियों और क्षेत्रीय ग्रामीणों ने घायलों के लिए अपनी जान की बाजी भी लगा दी। घायलों को वहां से हटाया और हाईवे पर वाहनों को रोक-रोककर उन्हें अस्पताल तक पहुंचाया।

आगरा-मथुरा हाईवे पर आनंद कॉलेज के पास टैंकर की टक्कर से ट्रैक्टर-ट्रॉली में सवार 40 लोग घायल हो गए। किसी के हाथ तो किसी के पैर में चोट लगी थी। कोई सिर में चोट लगने पर लहूलुहान होकर सड़क पर पड़ा था। ग्रामीण की सूचना पर करीब 20 मिनट में वहां पुलिस पहुंच गई। मगर, पेट्रोल टैंकर में लगी आग से डरकर पुलिसकर्मी दूर ही खड़े हो गए।

वैष्णवी ढाबा के संचालक बबलू यादव और उनके कर्मचारीगण हरिओम, भूपेंद्र और जेपी बचाव में जुट गए। इसी बीच अरसैना निवासी थान सिंह यादव, जितेंद्र समेत दो दर्जन युवा भी आ गए। टैंकर फटने की आशंका से विचलित हुए बगैर ये लोग घायलों को टैंकर के पास से निकालने लगे।

घायल और बेहोश लोगों को सड़क किनारे सुरक्षित किया। इसके बाद कुछ घायलों को ट्रैक्टर-ट्रॉली से पास स्थित एक निजी अस्पताल में पहुंचा दिया। आधा घंटे बाद इलाका पुलिस पहुंची और 45 मिनट बाद दमकल आग बुझाने को पहुंची।