कानपुर थाने में रात भर गिने गए 96 करोड़ 62 लाख, क्राइमब्रांच अलर्ट

108
SHARE

मनीचेंजरों के पास से कानपुर पुलिस, एनआईए, क्राइम ब्रांच की छापेमारी के दौरान बरामद पुरानी करेंसी की गिनती पूरी हो गई है। 96 करोड़ 62 लाख के 500 व 1 हजार के नोट मिले हैं। बाकी दूसरे ठिकानों से इकट्ठा की गई पुरानी करेंसी की गिनती की जा रही है।

मेरठ में बिल्डर के पास से 25 करोड़ के पुराने नोट मिलने के बाद मंगलवार देर शाम कानपुर में भी पुराने नोटों की खेप पकड़ी गई थी। एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी), पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मंगलवार को कानपुर के एक होटल समेत तीन स्थानों से 8 मनीचेंजर पकड़े हैं। उनके पास लगभग 100 करोड़ रुपये बरामद होने की बात सामने आई है। आयकर विभाग के अफसर पूछताछ कर रहे हैं।

मेरठ में पिछले दिनों बिल्डर संजीव मित्तल के पास से पुलिस ने 25 करोड़ के पुराने नोट बरामद किए थे। इसके बाद एनआईए को जानकारी मिली थी कि यूपी में कानपुर समेत कई जिलों में मनीचेंजर गैंग सक्रिय हैं, जो औने-पौने दाम पर पुरानी करेंसी को नई करेंसी में बदल रहे हैं। इसकी सूचना पुख्ता होने पर एनआईए अफसरों ने आईजी आलोक सिंह और एसएसपी अखिलेश कुमार से संपर्क किया। अफसरों ने संगठित टीम बनाई।

टीम ने 80 फीट रोड स्थित गगन होटल पर छापा मारकर दो कमरों से सात लोगों को गिरफ्तार किया। फिर टीम ने स्वरूप नगर और नजीराबाद इलाके के दो स्थानों पर छापेमारी की। यहां से एक अन्य व्यक्ति को पकड़ा। पुलिस ने होटल के रिकॉर्ड और सीसीटीवी फुटेज कब्जे में लिए हैं। एक अफसर ने बताया कि अब तक मनीचेंजरों के पास से लगभग 100 करोड़ रुपये के पुराने नोट बरामद हुए हैं। गिनती में ये नोट 96 करोड़ 62 लाख निकले हैं।

कानपुर शहर के एक थाने में मशीन से देर रात नोट गिने जाते रहे। गगन प्लाजा के 101,201 नंबर कमरों से वाराणसी का संतकुमार, संजय सिंह, अमरावती महाराष्ट्र का अनिल और सहारनपुर का विजय प्रकाश ओमप्रकाश दायमा समेत सात लोग पकड़े गए हैं।