90 किलो सोने की चोरी में कस्टम विभाग अधीक्षक गिरफ्तार

50
SHARE

आइजीआइ एयरपोर्ट पर जब्त किए गए करीब 90 किलो सोने को धीरे-धीरे मालखाने से निकालने के 14 साल पुराने मामले में सीबीआइ ने कस्टम विभाग के अधीक्षक संजीव कुमार को गिरफ्तार किया है। संजीव फिलहाल सोनीपत में कार्यरत हैं। इस मामले की जांच लंबे समय तक दिल्ली पुलिस के पास रही, इतना समय बीत जाने के बावजूद जब पुलिस कुछ नहीं कर पाई तो तफ्तीश को सीबीआइ को स्थानांतरित कर दिया गया।

पटियाला हाउस कोर्ट के मुख्य महानगर दंडाधिकारी सुमित दास की अदालत में गिरफ्तारी के बाद संजीव कुमार को पेश किया गया। अदालत के समक्ष सीबीआइ की तरफ से कहा गया कि इस पूरे षड्यंत्र की तह तक पहुंचने के लिए आरोपी की सात दिन की कस्टडी चाहिए। जिसके बाद अदालत ने 28 मई तक के लिए संजीव कुमार को सीबीआइ रिमांड पर भेज दिया।

सीबीआइ की तरफ से अदालत के समक्ष कहा गया कि वर्ष 2002 से 2003 के बीच संजीव कुमार की नियुक्ति आइजीआइ एयरपोर्ट पर थी। इस दौरान कस्टम विभाग द्वारा जब्त किया गया करीब 90 किलो सोना उन्होंने धीर-धीरे कर किसी साधारण धातु से बदल दिया। मालखाने का कार्यभार संजीव के पास होने के कारण उसके लिए सोना बदलना कोई मुश्किल नहीं था।

पेश मामले में शिकायत के आधार पर दिल्ली पुलिस ने एक के बाद एक पांच मुकदमे दर्ज किए थे, लेकिन सुबूतों के अभाव में किसी एक मामले में भी पुलिस जांच में कोई ठोस सुराग नहीं ढूंढ़ पाई। सीबीआइ की तरफ से कहा गया कि कुछ समय पहले ही उन्हें जांच सौंपी गई थी। फोरेंसिक रिपोर्ट से पता चला कि सोने को जिस धातु से बदला गया था उसपर मौजूद फिंगर प्रिंट संजीव कुमार के हैं। जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी की गई। तफ्तीश के आधार पर पुलिस अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी कर सकती है।

source-DJ