एमपी में 4 की मौत, बिहार में एंबुलेंस में नवजात की मौत, सैकड़ो घायल

47
SHARE

दलितों का सुप्रीम कोर्ट के एससी-एसटी एक्ट पर फैसले के खिलाफ भारत बंद देश के 10 राज्यों में इसका देखा गया। मध्य प्रदेश में जारी हिंसा में 4 लोगों की मौत हो गई। बिहार के वैशाली में प्रदर्शनकारियों ने एक एंबुलेंस को रोक दिया। इसके चलते एक नवजात की जान चली गई। राजस्थान-एमपी में दो गुटों के बीच झड़प में 30 लोग जख्मी हो गए। पंजाब में बंद के चलते सीबीएसई की परीक्षाएं टाल दी गई हैं। केंद्र सरकार ने इस फैसले के खिलाफ सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन दायर की।

राजस्थान के बाड़मेर में दलित संगठनों और करणी सेना के बीच हुई झड़प हो गई, जिसमें 25 लोग जख्मी हो गए। हालात काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। भरतपुर में महिलाएं हाथों में लाठियां लेकर सड़कों पर प्रदर्शन करने उतरीं। अलवर में एक मकान में आग लगाने की कोशिश। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में आग लगाई। पुष्कर में कई वाहनों में तोड़फोड़।

मध्य प्रदेश के ग्वालियर, भिंड और मुरैना में भारी हिंसा हुई। ग्वालियर में हिंसा में 3 की मौत। टोल प्लाजा में तोड़फोड़। सड़क पर वाहन जलाए गए। पांच थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू। इंटरनेट बंद। भिंड के मेहगांव और गोहद में कर्फ्यू। झाबुआ में भी बाजार में तोड़फोड़। सागर में धारा 144 लागू।

पंजाब के सभी स्कूल-कॉलेज, यूनिवर्सिटी और बैंक बंद किए गए। सीबीएसई की 10वी-12वीं की परीक्षाएं टाली गईं। रात 11 बजे तक बसें और इंटरनेट बंद हैं। सुरक्षा बलों के 12 हजार अतिरिक्त जवानों को फील्ड में उतारा गया है।

बिहार के मधुबनी, आरा, भागलपुर और अररिया में ट्रेनें रोकी गई। मोतिहारी में तोड़फोड़। वैशाली में प्रदर्शनकारियों ने एक एंबुलेंस को रोक लिया। मां गुहार लगाती रही, लेकिन जाम में फंसे रहने के चलते एक नवजात की मौत हो गई।

उत्तर प्रदेश के मेरठ, गोरखपुर, सहारनपुर, हापुड़, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, मथुरा और आगरा समेत कई जिलों में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया। मथुरा, हापुड़ और मेरठ में प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ करने के साथ वाहनों और पुलिस थाने में आग लगाई। आग बुझाने पहुंची दमकल की टीम पर पथराव हुआ।

ओडिशा में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें रोकीं।

झारखंड में सड़कों पर जाम लगाया गया। कई जगहें ट्रेनें रोकी गईं। प्रदर्शनकारियों ने जबरन बाजार बंद कराए। रांची में पुलिस पर पथराव हुआ। जमशेदपुर में एक ट्रक में आग लगा दी गई।

गुजरात के सौराष्ट्र, कच्छ और राजकोट में लोगों ने प्रदर्शन किया। आगजनी-तोड़फोड़ की गई।

हरियाणा में नेशनल हाइवे -1 बंद कर दिया गया। कैथल में रोडवेज डिपो में घुस गए। यहां टिकट काउंटरों पर तोड़फोड़। प्रदर्शनकारियों ने एक ट्रेन इंजन पर पत्थरबाजी की। पुलिस ने भीड़ को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े।

छत्तीसगढ़ में दवाई की दुकानों को छोड़कर पूरे बाजार बंद हैं। कई जिलों में प्रदर्शनकारियों ने जबरन बाजार बंद कराए। हिंसा की सूचना नहीं है।

दलित संगठनों अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में संशोधन को वापस लेकर एक्ट को पहले की तरह लागू किया जाने की मांग कर रहे है.