सुभासपा ने एनडीए पर बढ़ाया दबाव, अपना दल उम्मीदवार को समर्थन पर फंसा पेच

6
SHARE

यूपी में भाजपा और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के बीच सीटों को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हो पाया है और ना ही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी एनडीए में बने रहने को लेकर कोई आखिरी फैसला ले पाई है। इस बीच अपना दल के उम्मीदवार पर नई जंग शुरू हो गई है।

अपना दल (एस) को मिली दो सीटों में से एक पर तो अनुप्रिया पटेल चुनाव लड़ रही हैं, वहीं दूसरी सीट राबर्ट्सगंज पर इस पार्टी ने समाजवादी पार्टी से आए पकौड़ी लाल कोल को उम्मीदवार बनाया है। अपना दल ने पकौड़ी लाल कोल को भाजपा, अपना दल और सुभासपा का संयुक्त प्रत्याशी बताया है, लेकिन सुभासपा ने अपना नाम जोड़े जाने पर आपत्ति जताई है।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि सुभासपा अभी एनडीए में रहेगी या नहीं, यह तय ही नहीं हुआ है तो अपना दल प्रत्याशी पकौड़ी लाल को समर्थन की बात कहां से उठती है। सुभासपा के राष्ट्रीय सचिव रामलखन पटेल ने कहा है कि अभी एनडीए उम्मीदवार को समर्थन देने का कोई भी ऐलान पार्टी ने नहीं किया है।

बताते चलें कि सीटों के मसले पर सुभासपा और भाजपा में रार छिड़ी हुई है और 6 अप्रैल को नाराज सुभासपा ने इस मसले पर बैठक भी बुलाई थी। सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने सीटें नहीं मिलने की स्थिति में भाजपा के साथ बने रहने या नहीं बने रहने को लेकर कार्यकर्ताओं की राय ली लेकिन आखिरी फैसला कुछ दिनों में लेने की बात कही। भाजपा की तरफ से अभी पूर्वांचल की आठ सीटों पर उम्मीदवार नहीं उतारे गए हैं, इसीलिए राजभर की उम्मीदें भी खत्म नहीं हुई हैं, ऐसे में आगामी कुछ दिन एनडीए के इन दलों के बीच आपसी रिश्तों के लिहाज से काफी अहम होंगे।