13 हजार करोड़ रुपये की लागत से बना आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे

42
SHARE

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे का सोमवार को उद्घाटन हुआ। इस मौके पर समाजवादी पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, जया बच्चन, रामगोपाल यादव, शिवपाल सिंह, सांसद अक्षय यादव, कैबिनेट मंत्री अहमद हसन आदि नेता पहुंचे। कार्यक्रम में अखिलेश ने शिवपाल और रामगोपाल के पैर छूकर आशीर्वाद लिया|

20 हजार मजदूरों, 1500 कुशल मजदूरों, 1000 इंजीनियर और 3000 मशीनों ने इस हाइवे का निर्माण किया है। ये हाइवे एडवांस्ड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम से लैस होगा। धुंध और कोहरे में भी लोगों को कम परेशानी होगी। यूपी सरकार का दावा है कि इस हाइवे को 23 महीने में बना दिया गया जो देश में एक रिकॉर्ड है। 6 महीने में 3500 हेक्टेयर भूमि 30 हजार किसानों से समझौता कर खरीदी गई और हाइवे बनाया गया। 302 किलोमीटर ग्रीनफील्ड 6 लेन हाइवे है जिसे जरूरत पड़ने पर 8 लेन किया जा सकता है। हाइवे पर भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान उतर सकें इसके लिए 3.3 किलोमीटर की हवाई पट्टी भी बनाई गई है। यह हाइवे आगरा में दिल्ली-आगरा से लिंक है जिससे दिल्ली से लखनऊ का सफर अब बेहद आसान हो गया है। हाइवे पर पुल, पुलिया, अंडरपास जैसी 911 छोटी बड़ी संरचनाएं बनाई गई हैं जो 8 लेन के हिसाब से हैं। हाइवे पर 4 रेलवे ओवर ब्रिज भी हैं ताकि सड़क पर आवाजाही में कहीं कोई रुकावट नहीं हो। बताया जा रहा है कि ये हाइवे 13 हजार करोड़ रुपये की लागत से बना है|

इस दौरान लड़ाकू विमान आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को छूकर गुजरे। कार्यक्रम में बोलते हुए रामगोपाल यादव ने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार एक्सप्रेस वे पर लड़ाकू विमान उतरेंगे और टेकऑफ करेंगे। अगली बार नेताजी के आशीर्वाद से सपा की सरकार आई तो बलिया एक्सप्रेस वे का उद्धघाटन इससे भी बेहतर मुख्यमंत्री के रूप में अखिलेश यादव करेंगे।