12 साल की लड़की ने मांगी इच्छा मृत्यु

129
SHARE

चंदौली जिले के बर्थराखुर्द निवासी 12 वर्षीया अनुष्का पांडेय ने अपने मामा पर पिता को फर्जी मुकदमे में फंसाने और मां को गायब करने का आरोप लगाया है। दस माह से पिता के जेल में रहने और मां के लापता होने के बाद अनुष्का व उसके छोटे भाई-बहन की स्थित दयनीय हो गयी है। स्कूल से नाम कट गया है और भोजन तक की समस्या खड़ी हो गई है। इससे त्रस्त अनुष्का वाराणसी डीआईजी विजय भूषण से मिली और इच्छा मृत्यु की मांग की। डीआईजी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चंदौली पुलिस को जांच के आदेश दिये हैं|

अनुष्का ने डीआईजी को बताया कि उसकी मां गुड़िया की 13 साल पहले पिता ओमप्रकाश पांडेय से शादी हुई थी। पिपरी गांव निवासी उसके मामा चंद्रशेखर तिवारी 14 नवम्बर 2015 को उसके घर आये। हम भाई-बहनों के सामने मां को अपने साथ लेते गये। जाते समय मां ने उससे बताया कि नानी की तबीयत खराब है। उन्हें देखकर वापस आ जाएंगी। इसके बाद मामा ने 15 दिसम्बर 2015 को चंदौली थाने में पिता के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और मां के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करा दी। यह भी आरोप लगाया कि मेरे पिता ने दूसरी शादी कर ली है। पुलिस ने पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दस माह हो गये पिता जेल में और मां लापता हैं|

दादी के साथ रह रही अनुष्का ने बताया कि माता-पिता के अलावा उनका कोई सहारा नहीं है। फीस जमा न होने से स्कूल से तीनों भाई-बहनों के नाम काट दिये गये हैं। मेरे पापा निर्दोष हैं और मामा की नीयत ठीक नहीं है। गुहार लगायी कि मामले की जांच कराकर पिता को जेल से रिहा किया जाय और मां का पता लगाया जाय। नहीं तो प्रशासन और कानून हमें इच्छा मृत्यु का आदेश दें|