आजमगढ़ में जहरीली शराब से 10 की मौत

60
SHARE

आजमगढ़ में अवैध शराब के सेवन से 10 लोगों ने दम तोड़ दिया। इनमें से पांच ने एक गांव में दम तोड़ा। दो सगे भाई थे। आजमगढ़ के देवारांचल स्थित रौनापार थाना क्षेत्र में रात अवैध शराब पीने से 10 लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जन भर गंभीर लोगों का जिला अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। मरने वालों में शराब बेचने वाले दो सगे भाई भी शामिल हैं। घटना के बाद आला अफसर मौके पर पहुंचे। पुलिस अधीक्षक ने जहरीली शराब से मौतों की ही बात स्वीकारी है।

डीएम चंद्रभूषण सिंह ने प्रथम दृष्टया दोषी मिलने पर आबकारी विभाग व क्षेत्रीय पुलिस के खिलाफ कार्रवाई के लिए मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। देर शाम पुलिस अधिकारियों ने गांव में छापेमारी की। भारी मात्रा में गुड़, लहन व महुआ बरामद करने के साथ ही एक महिला को हिरासत में भी लिया गया है। रौनापार थाना क्षेत्र के ग्राम सरदौली, -गड़थौली बुढ़ानपुर में रामवृक्ष व चरित्तर पुत्रगण स्व. रामदवर के घर कच्ची शराब बिकती थी।

कल शाम केवटहिया पुरवा के दर्जनभर लोगों के साथ ही पड़ोस के ओढऱा सलेमपुर गांव निवासी दो लोगों व कुछ अन्य ने यहां शराब पी। कुछ देर बाद ही लोगों को उल्टी, पेट दर्द व आंखों में जलन की शिकायत हुई। देखते ही देखते कई लोगों की हालत बिगडऩे लगी। पहले तो बीमार लोगों के परिजन अपने स्तर से चोरी-छिपे उनका उपचार कराने लगे लेकिन जब एक एककर मौतों का सिलसिला शुरु हुआ तब प्रभावित परिवारों में हड़कंप मच गया।

सबसे पहली मौत सरदौली-गड़थौली बुढ़ानपुर केवटहिया ग्राम निवासी शराब विक्रेता रामवृक्ष (70) पुत्र स्व. रामदवर की हुई। इसके बाद गांव के 40 वर्षीय श्यामप्रीत पुत्र बगेदू ने दम तोड़ दिया। इसके बाद देर रात करीब 12 बजे तक गांव के पांच लोग जहरीली शराब के चलते काल के गाल में समा गए। इनमें मृतक रामवृक्ष का भाई चरित्तर (85) भी शामिल था। इसी क्रम में जहरीली शराब से पड़ोसी गांव ओढऱा सलेमपुर निवासी दो युवकों ने भी दम तोड़ दिया। शराब पीने से सात लोगों की मौत की जानकारी पाते ही हड़कंप मच गया। देर रात ही पुलिस भी पहुंची। पहले तो शराब से हुई मौत की बात लोग छिपाते रहे पर सख्ती करने पर सच सामने आ गया।

गांव वालों के अनुसार मरने वाले दोनों भाई रामवृक्ष व चरित्तर के घर बरसों से कच्ची शराब का धंधा चल रहा था। गुरुवार को यहां से करीब दो दर्जन लोगों ने शराब खरीदी थी। हालांकि मृत दोनों भाइयों के परिजनों ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि उक्त दोनों की मौत पेटदर्द से हुई। बाद में प्रशासन की सहमति पर शुक्रवार की सुबह परिजन दोनों शव ले गए व उनका दाह संस्कार कर दिया। अन्य शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। गंभीर रूप से बीमार मोहनलाल को हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया है। अधिकारी मौके पर कैंप किए हैं। देर रात एक और पीड़ित ने दम तोड़ दिया। पुलिस कुछ लोगों की मौत बीमारी से बता रही है।

source-DJ