बहराइच में डेढ़ महीने में 71 बच्चों की मौत, अस्पतालों में इंतजामों की भारी कमी

5
SHARE

उत्तर प्रदेश में अस्पतालों में आम लोगों को मिलने वाले इलाज की स्थिति क्या है, इसे आप बहराइच जिले में हो रही बच्चों की मौतों से अंदाजा लगा सकते हैं। मौत एक बार फिर से यहां पर कहर बन कर टूट पड़ी है और सरकारी अमला इंतजामों की कमी के बहगाने से ऊपर ही नहीं उठ पा रहा है। बहराइच में पिछले 45 दिनों में 71 बच्चों की मौत हो चुकी है।

बहराइच जिले में बच्चों के मौत के जो आंकड़े सामने आए हैं, वह हैरान करने वाले हैं, लेकिन इससे भी हैरान करना वाला है स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का बयान। बहराइच के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डीके सिंह का कहना है कि बच्चों की मौत विभिन्न बीमारियों की वजह से हुई हैं। हमारे पास 200 बेड हैं मगर अभी 450 मरीज भर्ती हैं। हम कईयों की जिंदगी बचाने के लिए जितना हो सकता है, अपना बेस्ट दे रहे हैं।

इसका मतलब साफ है कि अधिकारी बेबस हैं और मरीजों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है। सिर्फ बहराइच ही नहीं बरेली, बदायूं, हरदोई, सीतापुर समेत पूरे उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में अज्ञात बुखार की वजह से मरने वाले बच्चों की संख्या बेलगाम हो रही है। राज्य सरकार ने बुधवार को जिला स्तरीय मेडिकल टीमों को सक्रिय निगरानी के निर्देश दिये लेकिन इंतजाम इतने नहीं हैं जितनी कि जरूरत है।