निरहुआ आजमगढ़ में अखिलेश यादव के सामने ताल ठोकने को तैयार

104
SHARE

भोजपुरी सुपर स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ के भाजपा में शामिल होने के बाद इस बात की खूब चर्चाएं हैं कि वह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ आज़मगढ़ से ताल ठोक सकते हैं। भाजपा ने अभी उनकी उम्मीदवारी पर मुहर नहीं लगाई है लेकिन निरहुआ इसके लिए तैयार दिखाई देते हैं।


एक फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में वाराणसी पहुंचे निरहुआ ने कहा कि, देश के लिए कुछ करने की तमन्ना थी, इसीलिए वह राजनीति में आए। निरहुआ का कहना था कि प्रधानमंत्री मोदी से प्रभावित होकर वह भाजपा से जुड़े, उन्होंने यह भी कहा कि, अखिलेश यादव के साथ उनकी कोई दुश्मनी नहीं, बस उनके विचारों से असहमत हैं।


निरहुआ का कहना था कि वह काफी दिनों तक अखिलेश यादव के साथ रहे, अखिलेश अकेले चुनाव लड़ते तो ठीक था, लेकिन वो मायावती को पीएम बनाना चाहते हैं लेकिन निरहुआ मोदी को बनाना चाहते हैं। निरहुआ ने कहा कि आजमगढ़ से चुनाव लड़ाने की अभी पार्टी की तरफ से घोषणा नहीं हुई है, फिर भी मौका मिला तो हम तैयार हैं।


अब सवाल यह है कि निरहुआ अखिलेश यादव को कितनी चुनौती दे पाएंगे। आज़मगढ़ की सीट उन सीटों में है जहां 2014 के चुनावों में भाजपा मोदी लहर के बावजूद नहीं जीत पाई थी। अखिलेश यादव आज़मगढ़ को अपना दूसरा घर कहते हैं। आज़मगढ़ में भाजपा के लिए चुनौती कड़ी है लेकिन निरहुआ को अपने भोजपुरी भाषी फैन्स और भाजपा के कोर वोटबैंक का भरोसा है।